Laws & Awareness

Spicy news on Asaram Bapu…

‘Dainik Bhaskar‘, a specialist in playing sub-standard tricks in creating page layouts and skills of publishing spicy news items with misleading headlines, has recently come down to such a low standard that may be termed as being number one in the current trend of yellow journalism prevalent in national print media. It is least said the better about the great ...

Read More »

Misuse of rape laws – has it become so easy?

“Student Files Fake Gang Rape Case after Missing University Exam” – I was simply aghast when I read this headline on a news portal early this December. The news reported that a 19-year-old student filed a fake complaint as she missed her exam after reaching university late and thus cooked up gang rape incident fearing an adverse reaction from her ...

Read More »

भारत को गुलाम बनाने की साजिश !

(मैकाले द्वारा २ फरवरी १८३५ को ब्रिटिश पार्लियामेंट में भारतवर्ष को गुलाम बनाने के लिए दिया गया घृणास्पद कुटिल सुझाव) “मैंने भारतवर्ष के कोने-कोने में भ्रमण किया और मुझे एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं मिला जो भिखारी हो, चोर हो । मैंने इस देश में ऐसी अपार सम्पदा देखी है । इतने उच्च नैतिक आदर्श व इतने प्रतिभाशाली लोग यहाँ ...

Read More »

भारत में मानव-अधिकार नहीं हैं ?

– मिसेस ए. हिग्गिंस, लंदन, इंग्लैंड (अंग्रेजी में प्राप्त हुए ई-मेल का अनुवाद) मैं एक ५८ वर्षीय महिला हूँ, जिसका जन्म इंग्लैंड में हुआ था । मेरे माता-पिता के धर्म अलग-अलग थे । उन्होंने मुझे कोई भी धर्म अपनाने की स्वतंत्रता दी । मैंने बहुत सारे धर्म देखे लेकिन उनमें से कोई भी मुझे मेरे अनुकूल नहीं लगा । मैं ...

Read More »

क्या युवाधन की सुरक्षा करना गुनाह है ?

  किसी भी देश का भविष्य उसकी युवा पीढ़ी पर निर्भर होता है किंतु उचित मार्गदर्शन के अभाव में वह गुमराह हो जाती है । वर्तमान में युवाओं में फैशनपरस्ती, अशुद्ध आहार-विहार के सेवन की प्रवृत्ति, कुसंग, अभद्रता, चलचित्र-प्रेम आदि बढ़ रहे हैं । इनसे दिनोंदिन उनका पतन होता जा रहा है । आज विश्व के कई विकसित देशों में ...

Read More »

बलात्कार के झूठे केस में ६ साल की सजा काटने के बाद निर्दोष बरी

बलात्कार के झूठे मामले में एक निर्दोष को ६ साल जेल में काटने पड़े, बाद में सच्चाई सामने आने पर उसे बाइज्जत बरी कर दिया गया । लेकिन इस बीच उसका घर-परिवार, नाते-रिश्तेदार, पूरा जीवन बिखर गया और समाज का तिरस्कार सहना पड़ा सो अलग । सदमे से उसके पिता चल बसे, पत्नी घर छोड़कर चली गयी और दोनों बेटियाँ ...

Read More »

महिला-सुरक्षा कानून बन रहे हैं महिलाओं के लिए ही घातक

women safety

निर्भया कांड के बाद बलात्कार से रक्षा हेतु नये कानून बनाये गये, जिनके अंतर्गत प्रावधान है कि शिकायतकत्र्री बिना किसी सबूत के (केवल बोलनेमात्र से) किसी पर भी आरोप लगाकर उसे जेल भिजवा सकती है । क्या इन कानूनों के कारण महिलाओं पर होनेवाला अत्याचार कम हुआ ? नहीं, बल्कि छेड़खानी, बलात्कार जैसे आरोप लगाकर सनसनी फैलाने के मामले बढ़ने ...

Read More »

ऐसा कोई कानून कहाँ है जो पुरुषों की झूठे मामलों से रक्षा करे ? : न्यायालय

‘पुरुष के मान-सम्मान, गरिमा के विषय में कोई भी चर्चा नहीं करता, सभी महिलाओं के ही अधिकारों, मान-सम्मान, गरिमा के लिए लड़ रहे हैं । महिलाओं की सुरक्षा के लिए कानून बन रहे हैं लेकिन ऐसा कोई कानून कहाँ हैं जो पुरुष की ऐसी महिला से रक्षा करे जहाँ पर उसे झूठे मामले में फँसाया जा रहा है और प्रताड़ित ...

Read More »