Divya Prerna Prakash

‘दिव्य प्रेरणा-प्रकाश’ से बदला जीवन

एक बार पूज्य बापूजी ने मुझे ‘दिव्य प्रेरणा-प्रकाश’ पुस्तक पढ़ने को कहा था । मैंने उसी दिन से पुस्तक पढ़ने का नियम ले लिया, जिससे मेरे जीवन में बहुत बदलाव आया । मेरी बुद्धि और भी तेज हुई, तरक्की की नयी-नयी युक्तियाँ सूझने लगीं । पहले मुझे लगता था कि खाना-पीना, ऐश करना यही जिंदगी है लेकिन अब पता चला ...

Read More »