आधुनिक शिक्षा के साथ मूल्यपरक शिक्षा

adhunik shiksha

संत श्री आशारामजी गुरुकुल, अहमदाबाद में आने की प्रेरणा मुझे नवम्बर २०१४ में मिली, जब मैं यहाँ के एक अध्यापक से चंडीगढ़ में मिला था । मेरा सौभाग्य है कि मुझे इस गुरुकुल में आने का अवसर मिला । यहाँ के बच्चों की सृजनशीलता, तन्मयता और कुछ सीखने की ललक को देखकर, महसूस करके मैं बहुत ही आह्लादित और गद्गद हूँ । आश्रम के इस गुरुकुल में मेरा २ दिन का प्रवास का समय कब व्यतीत हो गया मुझे ज्ञात ही नहीं हो पाया ।

गुरुकुल के पदाधिकारियों को मेरा नमन, जिन्होंने एक अच्छी शिक्षा व्यवस्था को अपनाया तथा मूल्यपरक शिक्षा को आधुनिक शिक्षा के साथ मजबूती से जोड़ा है । आप सभीका बहुत धन्यवाद !

दिनांक : १९ सितम्बर २०१५

डॉ. गगन गुप्त (डी.ई.एस.एम.)

एन.सी.ई.आर.टी.,

नई दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*